Bhartiy samvidhan ke videshi source भारतीय संविधान के विदेशी स्रोत

By | September 4, 2016

भारत के संविधान के निर्माण में निम्न देशों के संविधान से सहायता ली गई है-
1. संयुक्त राज्य अमेरिका – मौलिक अधिकार, न्यायिक पुनरावलोकन, संविधान की सर्वोच्चता,  न्यायपालिका की स्वतंत्रता, निर्वाचित राष्ट्रपति एवं उस पर महाभियोग, उपराष्ट्रपति, उच्चतम एवं उच्च न्यायालयों के न्यायाधीशों को हटाने की विधि एवं वित्तीय आपात ।
2. ब्रिटेन- संसदात्मक शासन प्रणाली, एकल नागरिकता एवं विधि निर्माण प्रक्रिया ।
3. आयरलैंड – नीति-निर्देशक सिद्धांत, राष्ट्रपति के निर्वाचक मंडल की व्यवस्था, राष्ट्रपति द्वारा राज्यसभा में साहित्य, कला, विज्ञान तथा समाज सेवा इत्यादि के क्षेत्र में ख्यातिप्राप्त व्यक्तियों का मनोनयन ।
4. ऑस्ट्रेलिया- प्रस्तावना की भाषा, समवर्ती सूची का प्रावधान, केंद्र एवं राज्य के बीच संबंध तथा शक्तियों का विभाजन, संसदीय विशेषाधिकार।
5. जर्मनी- आपातकाल के प्रवर्तन के दौरान राष्ट्रपति को मौलिक अधिकार संबंधी शक्तियां ।
6. कनाडा- संघात्मक विशेषताएं, अवशिष्ट शक्तियां केंद्र के पास, राज्यपाल की नियुक्ति विषयक प्रक्रिया, संघ एवं राज्य के बीच शक्ति विभाजन।
7. दक्षिण अफ्रीका – संविधान संशोधन की प्रक्रिया का प्रावधान ।
8. रूस- मौलिक कर्तव्यों का प्रावधान ।
9. जापान – विधि द्वारा स्थापित प्रक्रिया ।
नोट – भारतीय संविधान के अनेक देशी और विदेशी स्रोत हैं , लेकिन भारतीय संविधान पर सबसे अधिक प्रभाव ‘भारतीय शासन अधिनियम, 1935’ का है। भारतीय संविधान के 395 अनुच्छेदों में से लगभग 250 अनुच्छेद ऐसे हैं जो 1935 ईस्वी के अधिनियम से या तो शशब्द ले लिए गए हैं या फिर उसमें थोड़ा बहुत परिवर्तन के साथ लिया गया है।

Read Also-  भारतीय नागरिकता भाग-2, अनुच्छेद 5 से 11 bhartiya nagrikta

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *