Vilom Shabd विलोम शब्द

By | July 14, 2016

शब्द विलोम शब्द
अमृत- विष
अथ- इति
अन्धकार- प्रकाश
अल्पायु- दीर्घायु
अनुराग- विराग
अनुज- अग्रज
अधिक- न्यून
अर्थ- अनर्थ
अतिवृष्टि- अनावृष्टि
अनुपस्थिति- उपस्थिति
अज्ञान- ज्ञान
अनुकूल- प्रतिकूल
अभिज्ञ- अनभिज्ञ
अल्प- अधिक
अनिवार्य- वैकल्पिक
अगम- सुगम
अभिमान- नम्रता
अनुग्रह- विग्रह
अपमान- सम्मान
अरुचि- रुचि
अर्वाचीन- प्राचीन
अवनति- उन्नति
अवनी- अंबर
अच्छा- बुरा
अच्छाई- बुराई
अमीर- ग़रीब
अंधेरा- उजाला
अर्जित- अनर्जित
अंत- प्रारंभ
अंतिम- प्रारंभिक
अनजान- जाना-पहचाना
आदि- अंत
आगामी- गत
आग्रह- दुराग्रह
आकर्षण- विकर्षण
आदान- प्रदान
आलस्य- स्फूर्ति
आदर्श- यथार्थ
आय- व्यय
आहार- निराहार
आविर्भाव- तिरोभाव
आमिष- निरामिष
आर्द्र- शुष्क
आज़ादी- ग़ुलामी
आकाश- पाताल
आशा- निराशा
आश्रित- निराश्रित
आरंभ- अंत
आदर- अनादर
आयात- निर्यात
आर्य- अनार्य
आदि- अनादि
आस्तिक- नास्तिक
आवश्यक- अनावश्यक
आनंद- शोक
आधुनिक- प्राचीन
आना- जाना
आलस्य- फुर्ती
आध्यात्मिक- भौतिक
इच्छा- अनिच्छा
इष्ट- अनिष्ट
इच्छित- अनिच्छित
इहलोक- परलोक
उत्कर्ष- अपकर्ष
उत्थान- पतन
उद्यमी- आलसी
उर्वर- ऊसर
उधार- नक़द
उपस्थित- अनुपस्थित
उत्कृष्ट- निकृष्ट
उपजाऊ- बंजर
उदय- अस्त
उपकार- अपकार
उदार- अनुदार
उत्तीर्ण- अनुत्तीर्ण
उत्तर- दक्षिण
ऊंचा- नीचा
उन्नति- अवनति
उचित- अनुचित
उत्तरार्द्ध- पूर्वार्द्ध
एकता- अनेकता
एक- अनेक
ऐसा- वैसा
औपचारिक- अनौपचारिक
कृतज्ञ- कृतघ्न
क्रय- विक्रय
कमाना- खर्च करना
क्रूर- दयालु
कच्चा- पक्का
कटु- मधुर
क्रिया- प्रतिक्रिया
कड़वा- मीठा
क्रुद्ध- शान्त
कर्म- निष्कर्म
कठिनाई- सरलता
कभी-कभी- अक्सर
कठिन- सरल
केंद्रित- विकेंद्रित
क़रीबी- दूर के
कम- अधिक
खेद- प्रसन्नता
खिलना- मुरझाना
खुशी- दु:ख
ख़रीददार- विक्रेता
ख़रीद- बिक्री
ख़रीदना- बेचना
गर्म- ठंडा
गन्दा- साफ़
गहरा- उथला
ग़रीब- अमीर
गुण- दोष, अवगुण
ग़लत- सही
घृणा- प्रेम
घात- प्रतिघात
घर- बाहर
घाटा- फ़ायदा
चर- अचर
चौड़ी- संकरी, तंग
छोटा- बड़ा
छूत- अछूत
जन्म- मृत्यु
जल्दी- देरी
जीवन- मरण
जल- थल
जड़- चेतन
जटिल- सरस
झूठ- सच
ठोस- तरल
डरपोक- निड़र
तुच्छ- महान
तकलीफ़- आराम
तपन- ठंडक
दुर्लभ- सुलभ
दाता- याचक
दिन- रात
देव- दानव
दुराचारी- सदाचारी
दयालु- निर्दयी
देशी- परदेशी
धीरे- तेज़
धनी- ग़रीब, निर्धन
धर्म- अधर्म
धूप- छाँव
धीर- अधीर
न्याय- अन्याय
निजी- सार्वजनिक
नक़द- उधार
नियमित- अनियमित
निश्चित- अनिश्चित
निरक्षर- साक्षर
नूतन- पुरातन
निंदा- स्तुति
निर्दोष- र्दोष
नीचा- ऊंचा
नकली- असली
निर्माण- विनाश
निकट- दूर
प्यार- घृणा
प्रत्यक्ष- परोक्ष
पतला- मोटा
पाप- पुण्य
पतिव्रता- कुलटा
प्रलय- सृष्टि
पवित्र- अपवित्र
प्रश्न- उत्तर
पूर्ण- अपूर्ण
प्रेम- घृणा
परतंत्र- स्वतंत्र
प्राचीन- नवीन / नया
पक्ष- निष्पक्ष
प्राकृतिक- अप्राकृतिक
प्रसन्न- अप्रसन्न
प्रभावित- अप्रभावित
पोषण- कुपोषण
परिचित- अपरिचित
प्रवेश- निकास
पदोन्नति- पदावनति
प्रतिकूल- अनुकूल
प्रारंभ- अंत
पसंद- नापसंद
बंधन- मुक्ति
बुद्धिमता- मूर्खता
बासी- ताजा
बाढ़- सूखा
बुराई- भलाई
भूलना- याद करना
भाव- अभाव
मूक- वाचाल
मितव्यय- अपव्यय
मोक्ष- बंधन
मौखिक- लिखित
मानवता- दानवता
महात्मा- दुरात्मा
मान- अपमान
मधुर- कटु
मित्र- शत्रु
मिथ्या- सत्य
मंगल- अमंगल
महंगा- सस्ता
मेहनती- आलसी / कामचोर
मृत्यु- जन्म
मंजूर- नामंजूर
मुमकिन- नामुमकिन
यश- अपयश
युद्ध- शांति
योग्य- अयोग्य
रात- दिन
रुग्ण- स्वस्थ
रक्षक- भक्षक
राग- द्वेष
रात्रि- दिवस
राजा- रंक
रुचि- अरुचि
रोज़गार- बेरोज़गार
लाभ- हानि
व्यवस्था- अव्यवस्था
व्यावहारिक- अव्यावहारिक
विधि- निषेध
विधवा- सधवा
वरदान- अभिशाप
विनम्रता- घमंड
विजय- पराजय
वसंत- पतझड़
विरोध- समर्थन
विशुद्ध- दूषित
विषम- सम
विद्वान- मूर्ख
विश्वास- अविश्वास
विकसित- अविकसित
विशिष्ट- सामान्य / साधारण
विश्वनीय- अविश्वनीय
विस्तृत- संक्षिप्त
विकास- ह्रास
श्वेत- श्याम
शयन- जागरण
शीत- उष्ण
शुभ- अशुभ
शुष्क- आर्द्र
शोर- शांन्ति
श्रम- विश्राम
श्रोता- वक्ता
स्वतंत्र- परतंत्र
स्वस्थ- अस्वस्थ
स्वीकृत- अस्वीकृत
स्वदेश- विदेश
स्वर्ग- नरक
स्तुति- निंदा
स्वाधीन- पराधीन
स्वतंत्रता- दासता
स्वीकार- अस्वीकार
स्थाई- अस्थायी
सजीव- निर्जीव
सुगंध- दुर्गन्ध
संक्षेप- विस्तार
सरस- नीरस
सौभाग्य- दुर्भाग्य
सगुण- निर्गुण
सक्रिय- निष्क्रय
सफल- असफल
सज्जन- दुर्जन
संतोष- असंतोष
सुखान्त- दुखांत
सच- झूठ
सुन्दर- बदसूरत, कुरूप
साक्षर- निरक्षर
साधु- असाधु
सुपुत्र- कुपुत्र
सुर- असुर
सुमति- कुमति
साकार- निराकार
सुजन- दुर्जन
सम्मान- अपमान, अनादर
सुबह- शाम
सूर्योदय- सूर्यास्त
सरकारी- ग़ैरसरकारी
सुविधा- असुविधा
सस्ता- महंगा
सक्षम- अक्षम
सुरक्षित- असुरक्षित
संभव- असंभव
संतुलित- असंतुलित
संतुलन- असंतुलन
सावधानी- असावधानी
सघन- विरल
सहायक- बाधक
सहमत- असहमत
सुख- दुख
सहयोग- असहयोग
सहमति- असहमति
समापन- उद्घाटन
सर्दी- गर्मी
हर्ष- शोक
हित- अहित
हिंसा- अहिंसा
हार- जीत
हानि- लाभ
क्षणिक- शाश्वत
ज्ञान- अज्ञान
अथ= इति
आविर्भाव= तिरोभाव
आकर्षण= विकर्षण
आमिष= निरामिष
अभिज्ञ= अनभिज्ञ
आजादी= गुलामी
अनुकूल= प्रतिकूल
आर्द्र =शुष्क
अनुराग= विराग
आहार= निराहार
अल्प= अधिक
अनिवार्य= वैकल्पिक
अमृत= विष
अगम= सुगम
अभिमान= नम्रता
आकाश= पाताल
आशा= निराशा
अर्थ= अनर्थ
अल्पायु= दीर्घायु
अनुग्रह= विग्रह
अपमान= सम्मान
आश्रित= निराश्रित
अंधकार= प्रकाश
अनुज= अग्रज
अरुचि= रुचि
आदि= अंत
आदान= प्रदान
आरंभ= अंत
आय= व्यय
अर्वाचीन= प्राचीन
अवनति= उन्नति
कटु= मधुर
अवनी= अंबर
क्रिया= प्रतिक्रिया
कृतज्ञ= कृतघ्न
आदर= अनादर
कड़वा= मीठा
आलोक= अंधकार
क्रुद्ध= शान्त
उदय= अस्त
क्रय= विक्रय
आयात= निर्यात
कर्म= निष्कर्म
अनुपस्थित= उपस्थित
खिलना= मुरझाना
आलस्य= स्फूर्ति
खुशी= दुख, गम
आर्य= अनार्य
गहरा= उथला
अतिवृष्टि= अनावृष्टि
गुरु= लघु
आदि= अनादि
जीवन= मरण
इच्छा= अनिच्छा
गुण= दोष
इष्ट= अनिष्ट
गरीब= अमीर
इच्छित= अनिच्छित
घर= बाहर
इहलोक= परलोक
चर= अचर
उपकार= अपकार
छूत= अछूत
उदार= अनुदार
जल= थल
उत्तीर्ण= अनुत्तीर्ण
जड़= चेतन
उधार= नकद
जीवन= मरण
उत्थान= पतन
जंगम= स्थावर
उत्कर्ष= अपकर्ष
उत्तर= दक्षिण
जटिल= सरस
गुप्त= प्रकट
एक= अनेक
तुच्छ= महान
ऐसा= वैसा
दिन= रात
देव= दानव
दुराचारी= सदाचारी
मानवता= दानवता
धर्म= अधर्म
महात्मा= दुरात्मा
धीर= अधीर
मान= अपमान
धूप= छाँव
मित्र= शत्रु
नूतन= पुरातन
मधुर= कटु
नकली= असली
मिथ्या= सत्य
निर्माण= विनाश
मौखिक= लिखित
आस्तिक= नास्तिक
मोक्ष= बंधन
निकट= दूर
रक्षक= भक्षक
निंदा= स्तुति
पतिव्रता= कुलटा
राजा= रंक
पाप= पुण्य
राग= द्वेष
प्रलय= सृष्टि
रात्रि= दिवस
पवित्र= अपवित्र
लाभ= हानि
विधवा= सधवा
प्रेम= घृणा
विजय= पराजय
प्रश्न= उत्तर
पूर्ण= अपूर्ण
वसंत= पतझर
परतंत्र= स्वतंत्र
विरोध= समर्थन
बाढ़= सूखा
शूर= कायर
बंधन= मुक्ति
शयन= जागरण
बुराई= भलाई
शीत= उष्ण
भाव= अभाव
स्वर्ग= नरक
मंगल= अमंगल
सौभाग्य= दुर्भाग्य
स्वीकृत= अस्वीकृत
शुक्ल= कृष्ण
हित= अहित
साक्षर= निरक्षर
स्वदेश= विदेश
हर्ष= शोक
हिंसा= अहिंसा
स्वाधीन= पराधीन
क्षणिक= शाश्वत
साधु= असाधु
ज्ञान= अज्ञान
सुजन= दुर्जन
शुभ= अशुभ
सुपुत्र= कुपुत्र
सुमति= कुमति
सरस= नीरस
सच= झूठ
साकार= निराकार
श्रम= विश्राम
स्तुति= निंदा
विशुद्ध= दूषित
सजीव= निर्जीव
विषम= सम
सुर= असुर
विद्वान= मूर्ख

Read Also-  Maithili sharn gupt ka jeevan parichay मैथिलीशरण गुप्त का जीवन परिचय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *