Most Important Question Chemistry Hindi Notes Hindi

Most Important Question Chemistry Hindi Notes

  • आधुनिक रसायन विज्ञान का पिता सेवोसियर को कहा जाता है l
  • विश्लेषिका रसायन में विभिन्न द्रव्यों का गुणात्मक तथा मात्रात्मक विश्लेषण किया जाता है l
  • सबसे हल्का तत्व हाइड्रोजन है l
  • शुद्ध वायु समांग मिश्रण का उदाहरण होती है l
  • मिश्र धातुएँ समांगी मिश्रण होती हैं l
  • वायु , गैस एवं जलवाष्प का मिश्रण है l
  • एल्कोहल एवं जल का मिश्रण समांगी मिश्रण है l
  • पेट्रोल एवं जल का मिश्रण विषमांगी मिश्रण है l
  • तांबा प्रदूषण रहित तत्व हैं l
  • कार्बन मुख्यतः एक मिश्रण है लोहा एवं कार्बन का l
  • आसुत जल आसवन विधि द्वारा प्राप्त किया जाता है l
  • निलंबन विषमांगी की तरह का मिश्रण है l
  • कोलॉइड विषमांगी की तरह का मिश्रण है l
  • द्रव की प्लाज्मा अवस्था विद्युत् की सुचालक होती है l
  • आर्सेनिक एवं एंटिमनी उपधातु श्रेणी के तत्व हैं l
  • ब्रोमीन कमरे के तप पर द्रव अवस्था में पाया जाता हैl
  • आस्तु जल आसवन विधि से प्राप्त किया जाता है पीतल , तांबा एवं जस्ते का मिश्रण है l
  • कोल्ड ड्रिंक में कार्बन डाईऑक्साइड गैस का जल में विलयन होता है l
  • तांबा , शुद्ध पदार्थ है l
  • आर्सेनिक में धातु एवं अधातु दोनों तरह के तत्व पाए जाते हैं l
  • नील्स बोर के मॉडल को आधुनिक भौतिकी की आधारशिला कहा जाता है l
  • परमाणु का अधिकांश द्रव्यमान नाभिक में निहित होता है l
  • नील्स बोर ने अपना परमाणु मॉडल 1913  ई० में प्रस्तुत किया l
  • इलेक्ट्रॉन को नाभिक का चक्कर लगाने के लिये आवश्यक अभिकेंद्र बल इलेक्ट्रॉन एवं नाभिक के बीच कार्यकारी स्थिर वैद्युत आकर्षण बल से प्राप्त होता है l
  • रदरफोर्ड का परमाणु मॉडल परमाणु के स्थायित्व एवं रेखीय स्पेक्ट्रम की संतोषजनक व्याख्या नहीं प्रस्तुत क्र सका l
  • बोर एवं बरी ने साथ मिलकर तत्वों के इलेक्ट्रॉनिक विन्यास की योजना प्रस्तुत की थी l
  • हाइड्रोजन के सूक्ष्म स्पेक्ट्रम की व्याख्या सोमरफील्ड ने की l
  • हाइजेनबर्ग की अनिश्चितता का सिद्धांत बड़े कानों पर लागु नहीं होता है क्योंकि बड़े कणों का द्रव्यमान अधिक होता है l
  • परमाणु संरचना का आधुनिक विचार इलेक्ट्रॉन की तरंग प्रकृति पर आधारित है l
  • हाइजेनबर्ग का अनिश्चितता का सिद्धांत बड़े कणों पर लागु नहीं होता है क्योंकि बड़े कणों का द्रव्यमान अधिक होता है l
  • परमाणु संरचना का आधुनिक विचार इलेक्ट्रॉन की तरंग प्रकृति पर आधारित है l
  • हाइजेनबर्ग का अनिश्चितता सिद्धांत ‘संवेग तथा स्थिति में अनिश्चितता विद्यमान होती है l “
  • परमाणु की संरचना का आधुनिक विचार श्रांडिगर  ने दिया l
  • कक्षक के आकृति सबसे जटिल होती है l

 

  • किसी कोष की कर्म संख्या (Order ) उस कोश में उपकोशों की संख्या व्यक्त करती है l
  • P उपकोश में अधिकतम इलेक्ट्रॉनों की संख्या  6 हो सकती है l
  • किसी परमाणु या आयन के चुंबकीय गुणों की व्याख्या चक्रण क्वांटम संख्या करता है l
  • एक परमाणु में दो इलेक्ट्रॉनोंकी चारों संख्याएँ समान नहीं हो सकतीं I यह नियम ‘पाउली का अपवर्जन नियम है I’
  • एक मोल इलेक्ट्रॉन का भर 0.55 मिग्रा. होता है I
  • परमाणु की बाह्यतम कक्षा में उपस्थित इलेक्ट्रॉन संयोजी इलेक्ट्रॉन होते हैं I
  • इलेक्ट्रॉन की खोज जे.जे. थॉमसन ने की I
  • इलेक्ट्रॉन का द्रव्यमान हाइड्रोजन परमाणु का 1/1837वें भाग के बराबर होता है I
  • परमाणु के नाभिक की खोज रदरफोर्ड ने 1911 ई. में की थी I
  • किसी तत्व के परमाण्विक भार को एटॉमिक मॉस यूनिट (a.m.u.)में व्यक्त किया जाता है  I
  • न्यूट्रॉन एक वैद्युत उदासीन कण है I
  • हाइड्रोजन ही एकमात्र ऐसा तत्व है ,जिसके सभी समस्थानिकों के नाम अलग -अलग होते हैं I
  • पोलोनियम (Po) सर्वाधिक समस्थानिकों वाला तत्व है I
  • जीवाश्मों, मृत पेड पौधे की आयु निर्धारण (कार्बन डेटिंग ) के लिए कार्बन के रेडियोसक्रिय` समस्थानिक का उपयोग किया जाता है I
  • सबसे मजबूत बंध एकल बंध (Single bond) होता है I
  • त्रिबंध से युक्त यौगिक सबसे क्रियाशील होते है I
  • विद्युत संयोजी यौगिकों के बंध युक्त यौगिकों के क्वथनांक अधिक होते है I
  • सोडियम क्लोराइड (NaCL)एवं कैल्शियम क्लोराइड में विद्युत् संयोजी बंध बनता है I
  • अधिक इलेक्ट्रॉन बंधता वाला तत्व इलेक्ट्रॉन ग्राही प्रवृति का होता है I
  • विद्युत संयोजक यौगिकों में अणु संरचना का अभाव पाया जाता है I
  • कार्बनिक यौगिकों में सह-संयोजक बंध पाया जाता है I
  • सह-संयोजक यौगिकों के अणु आपस में वांडरवाल्स बल से बंधे होते है I
  • सह-संयोजी यौगिक अध्रुवीय तथा कार्बनिक विलायकों में आसानी से घुल जाते है
Also Read-  भारतीय संविधान की तीसरी अनुसूची

 

  • ग्रेफाइट तत्व का अणु सह-संयोजक बंध होने के बावजूद विद्युत का सुचालक है I
  • धात्विक ठोसों परमाणुओं के मध्य धात्विक बंध पाया जाता है I
  • पुरानी पुस्तकों के पन्ने ऑक्सीकरण के कारण पीले पड़ जाते हैं I
  • ऑक्साइड बनाने की क्रिया को ऑक्सीकरण कहते हैं  I
  • द्रव्यमान संरक्षण का नियम सर्वप्रथम लोमोनोसॉफ ने प्रतिपादित किया I
  • हवा में चांदी के बर्तनो का काला होना रासायनिक परिवर्तन है I
  • दूध से दही का बनना रासायनिक परिवर्तन है I
  • जल का वाष्प में परिवर्तन भौतिक परिवर्तन है I
  • नोबल गैस समान गुणों वाइए रासायनिक तत्वों का एक समूह होता है I प्रमुख नोबल गैस हैं – हीलियम, नीऑन, आर्गन, क्रिप्टन, जौनॉन रेडॉनI
  • एक जलती हुई माचिस की तीली जब हाइड्रोजन गैस के सम्पर्क में आती है तो वह बुझ जाती है एवं गैस ‘चाप’ ध्वनि के बाद जल जाती है I
  • प्रकाश संश्लेषण तथा श्वसन भी रासायनिक परिवर्तन है I
  • पानी का चीनी में घुलना भौतिक परिवर्तन का उद्दाहरण है I
  • प्रिज्म से गुजरने पर श्वेत प्रकाश का सात रंगों में विभक्त होना भौतिक परिवर्तन है  I
  • गलन, वाष्पन, संघनन, हिमायन, आसवन, ऊर्ध्वपातन आदि भौतिक परिवर्तन हैं I
  • जल मैं विद्युत् प्रवाहित करने पर हाइड्रोजन एवं ऑक्सीजन प्राप्त होना रासायनिक परिवर्तन है l
  • ऊष्माक्षेपी प्रतिक्रिया में ताप की उत्पति होती है l
  • रासायनिक समीकरणों को द्रव्यमान संरक्षण के नियम द्वारा संतुलित किया जाता है l
  • कच्चे फल का पकना रासायनिक परिवर्तन है l
  • लोहे पर जंग लोहे का ऑक्सीकरण होने के कारण लगती है l
  • सिरके का मुख्य घटक एसिटिक एसिड है l
  • अम्लों एवं क्षारों की पहचान के लिये मुख्यतया लिटमस पेपर , फिनाफ्थेलिन और मेथिल ऑरेंज का प्रयोग किया जाता है l
  • लिटमस लाइकेन से प्राप्त किया जाता है l
  • अम्ल वर्षा मुख्यतया SO2 , NO2 आदि के कारण होता है l
  • चाय में टेनिक अम्ल पाया जाता है l
  • सिरके में एसिटिक अम्ल पाया जाता है l
  • घरों में सिरका स्टार्च के किण्वन से बनता है l

 

  • अम्लों के अम्लीय गुणों हेतु उत्तरदायी अम्लों के जलीय विलय में मुक्त हाइड्रोजन   (H+) आयन होता है l
  • अम्लों एवं क्षारों की आधुनिक संकल्पना लॉरी एवं ब्रॉन्स्टेड ने 1923 ई० में दी l
  • जल में कार्बन डाईऑक्साइड (CO2 ) प्रवाहित करने पर बना सोडा वाटर अम्लीय प्रकृति का होता है l
  • दूध में लैक्टिक अम्ल पाया जाता है l
  • अचार के परिरक्षण हेतु उसमें एसिटिक एसिड मिलाया जाता है l
  • सेब में मैलिक अम्ल पाया जाता है l
  • फोटोग्राफी में ऑक्जैलिक अम्ल प्रयुक्त होता है l
  • इमली में टार्टरिक अम्ल पाया जाता है l
  • चाय में टेनिक अम्ल पाया जाता है l
  • खाद्य पदार्थों के संरक्षण में बेन्जोइक अम्ल का उपयोग किया जाता है l
  • जल की कठोरता सोडियम कार्बोनेट एवं कैल्शियम हाइड्रोक्साइड द्वारा दूर की जाती है l
  • मक्खन में ब्यूटाईरिक अम्ल पाया जाता है l
  • फार्मिक अम्ल एवं एसिटिक अम्ल दोनों ही कार्बनिक एवं दुर्बल अम्ल हैं l
  • शीतल पेयों एवं एसिटिक अम्ल दोनों ही कार्बनिक एवं दुर्बल अम्ल हैं l
  • बेकिंग पाउडर निर्माण में पर्युक्त अम्ल टार्टरिक अम्ल है l
  • चीटियों में फार्मिक अम्ल पाया जाता है l
  • लंबे समय तक कठोर शारीरिक श्रम के पश्चात मांसपेशियों में थकान पेशियों में लैक्टिक अम्ल के कारण होता है l
  • कोकाकोला का खट्टा स्वाद फास्फोरिक अम्ल के कारण होता है l
  • कपडे के स्याही एवं जंग के दाग धब्बे छुड़ाने हेतु आक्जैलिक अम्ल का प्रयोग किया जाता है l
  • नींबू का खट्टापन इसमें उपस्थित सिट्रिक अम्ल के कारण होता हैं l
  • घी की प्रकृति अम्लीय होती है जिसका pH  मान लगभग 6.5 होता है l
  • वर्षा जल का pH मान 5.4  या कम होने को अम्ल वर्षा की संज्ञा देते है l
  • जठर रस में हाइड्रोक्लोरिक अम्ल पाया जाता है l
  • पौधों की अच्छी वृद्धि के लिये मृदा का pH मान 7  के आस – पास होना चाहिये l
  • मृदा का pH  मान 8 से अधिक होना क्षारीय मृदा कहलाता है l
  • pH मूल्य किसी घोल के अम्लीय या क्षारीय होने का मूल्यांकन दर्शाता है l
  • फलों के रास के परिरक्षण के लिये सोडियम बेंजोइक का उपयोग किया जाता है l
  • सोडियम बाई कार्बोनेट का वाणिज्यिक नाम बेकिंग सोडा है l
  • मानव शरीर सामान्यतः 7  से 7.8 pH मान के बीच कार्य करता है l
  • रक्त में उपस्थित फॉस्फोरस हमारे  शरीर में अम्लीयता एवं क्षारीयता जे बीच संतुलन बनाए रखता है l
  • सातवां आवर्त अभी भी अपूर्ण है l
  • डी ब्लॉक के कुछ तत्व ऑफबाऊ के नियम का पालन नहीं करते हैं l
  • शीतलीकरण में नाइट्रोजन तत्व का ऑक्साइड होता होता है l
  • आधुनिक आवर्त सरणी का आधार परमाणु क्रमांक है l
  • पकृति में उपलब्ध अंतिम तत्व यूरेनियम  है l
  • तत्वों का एक्टिनाइट समूह रेडियो सक्रिय समूह कहलाता है l
  • यूनूनोक्तियम (Uo ) खोजा गया नया तत्व है l
  • जिंक धातु एसिड एवं एल्कली के साथ क्रिया करके हाइड्रोजन निकलती है l
  • जर्मन सिल्वर में चांदी की मात्रा नहीं होती है l
  • पारा धातु सामान्य ताप पर द्रव अवस्था में रहता है l
  • स्टील मुख्यतः लोहा एवं कार्बन का मिश्रण है l
  • बोक्साइड एल्युमीनियम धातु का अयस्क है l
  • एंटिमनी स्टीबनाईट तत्व का अयस्क है l
  • लोहे में जंग लगने से उसके भार में वृद्धि हो जाती है l
  • प्लेटिनम कठोरतम धातुओं में से एक है l
  • तांबा एक ऐसा धातु है जो पर्यावरण को प्रदूषित नहीं करता l
  • श्वेत फॉस्फोरस को पानी में रखा जाता है क्योंकि ये हवा की ऑक्सीजन से क्रिया कर जल उठता है परन्तु जल से कोई प्रतिक्रिया नहीं करता l
  • जीवों में नाइट्रोजन प्रोटीन के रूप में पाया जाता है l
  • सर्वधिक कठोर तत्व हिरा है l
  • पोटैशियम ब्रोमाइट का प्रयोग नींद लेन वाली दवा के रूप में होता है l
  • एक से अधिक धातुओं तथा अधातुओं के समांगी मिश्रण को मिश्र धातु कहते है l
  • मिश्र धातुओं के गुण अवयवी धातुओं के गुणों से भिन्न होते है l
  • बेंजीन अरोमैटिक प्रकार के योगिक हैं l
Also Read-  लवण- रसायन विज्ञान

 

  • प्रथम संश्लेषित कार्बनिक यौगिक का प्रियोगशाला में निर्माण व्होलर नई किया था l
  • किसी कार्बनिक यौगिक के मुख्य गुण यौगिक के क्रियात्मक समूह पर निर्भर करता है l
  • एथेन खुली श्रृंखला का यौगिक है l
  • न चिपकने वाले खाना पकने वाले बर्तनों में टेफ्लॉन का लेप चढ़ा होता है l
  • पॉलीथिन एथिलीन के बहुलीकरण द्वारा संश्लेषित किया जाता है l
  • रेयॉन सेलुलोज से बनाया जाता है l
  • थायोकाल रबर एक प्रकार की संश्लिष्ट रबर है l
  • न्यूनतम ज्वलनशील रेशा टेरेलीन है l
  • बकेलाइट एवं फिनॉल फर्मेल्डिहाइट के सहबहुलक हैं l
  • निप्रोप्रीन संश्लेषित रबर है l
  • रबर को वल्कनीकृत करने के लिये प्रयुक्त तत्व सल्फर है l
  • कागज पौधों के सलूलोज से बनाया जाता है l
  • प्राकृतिक रबर आइसोप्रीन का बहुलक है जो कि रबर के वृक्ष से लेटैक्स के रूप में प्राप्त होता है l
  • CFC एक ‘ हरित गृह गैस ‘ है , जो ओजोन (O3 ) क्षरण के लिये जिम्मेदार है l
  • मीथेन को ‘मार्श’ गैस के नाम से भी जाना जाता है l
  • इथाइलीन रंगहीन गैस है इसे सूंघने से बेहोशी आ जाती है l
  • औद्योगिक स्तर पर एथाइलिन का निर्माण , पेट्रोलियम के भंजन द्वारा किया जाता है l
  • एसिटिलीन रंगहीन गैस है , कुछ अशुद्धियों के कारण इसमें लहसुन जैसी गंध होती है l
  • भीड़ को तीतर -बितर करने के लिये अश्रु गैस का उपयोग होता है l
  • मिथाइल एल्कोहल रंगहीन , ज्वनशील द्रव होता है जो अत्यधिक विषैला होता है l
  • इथाइल एल्कोहल को ‘ स्पिरिट ऑफ वाइन’ भी कहा जाता है l
  • डाई इथाइल ईथर रंगहीन , अतीवाष्पशील द्रव होता है , जिसे त्वचा में डालने से ठंडा अनुभव होता है l
  • प्लास्टिक कृत्रिम रेशे , खाद्य परिरक्षक , स्नेहक , रेजिन , एंटीफ्रीज आदि बनाने में गिलसरोल का उपयोग किया जाता है l
  • एसिटिक अम्ल , सिरके का प्रमुख अवयव होता है l
  • लैक्टिक अम्ल सभी प्रकार के दुग्ध में पाया जाता है l
  • फॉर्मिक अम्ल या मेथेनोइक अम्ल लाल चीटियों , बिच्छू तथा मधुमक्खी आदि के डंक में पाया जाता है l
  • मानव मूत्र में यूरिया पाया जाता है l
  • कैल्शियम ऑक्ज्लेट की मात्रा अधिक हो जाने पर मानव गुर्दे में पथरी पड़ जाती है l
  • संश्लेषित रबड़ , क्लोरोप्रीन अथवा आइसोब्यूटाइलिन का बहुलक होती है l
  • नायलॉन मानव द्वारा संश्लेषित किया गया प्रथम रेशा है l
  • सोडियम बेन्जोएट का सर्वाधिक उपयोग खाघ परिरक्षक के रूप में होता है l
  • अपमार्जक कठोर जल के साथ कैल्शियम एवं मैग्नीशियम के घुलनशील लवण बनाते है l
  • कैनोलो, जेट्रोफा, सैलिफॉर्निया आदि पौधों से हरित डीज़ल प्राप्त किया जाता है l
  • गैसेहॉल में 90 % सीसा रहित पेट्रोल तथा 10 % एल्कोहल का मिश्रण होता है l
  • निकिल उत्प्रेरक की उपस्थिति में तेलों के हाइड्रोजनीकरण द्वारा खाघ वनस्पति तेल, वनस्पति घी में बदल दिये जाते है l
  • ग्रेफाइट एक स्नेह (लुब्रिकेंट) के रूप में भी प्रयोग किया जाता है l
  • यूरेनियम जीवाश्म ईंधन नहीं है l
  • सभी जैव यौगिक का अनिवार्य मूल तत्व कार्बन है l
  • बुलेटप्रूफ पदार्थ बनाने के लिये पोलिऐमाइड नामक बहुलक प्रयुक्त होता है l

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *