Chhayavaad छायावाद युगीन रचना एवं रचनाकार

By | October 12, 2016
  1. उर्वशी, वनमिलन, प्रेमराज्य, अयोध्या का उद्धार, शोकोच्छवास, बभ्रुवाहन, कानन कुसुम, प्रेम पथिक, करुणालय, महाराणा का महत्व, झरना, आशु, लहर, कामायनी (केवल झरना से लेकर कामायनी तक छायावादी कविता है) –जय शंकर प्रसाद
  2. अनामिका, परिमल, गीतिका, तुलसीदास, सरोज स्मृति (कविता), राम की शक्ति पूजा (कविता),-   सूर्यकांत त्रिपाठी निराला
  3. उच्छवास, ग्रंथि, वीणा, पल्लव, गुंजन (छायावाद युगीन) युगांत, युगवाणी, ग्राम्या,  स्वर्णकिरण, स्वर्णधूलि, रजतसिखर, उत्तरा, वाणी, पतझर, स्वर्ण काव्य, लोकायतन – सुमित्रानंदन पंथ
  4. निहार, रश्मि, नीरजा,  सांध्य गीत (सभी का संकलन यामा नाम से) – महादेवी वर्मा
  5. रूपराशि, निशीथ,  चित्ररेखा, आकाशगंगा राका, मानसी, विसर्जन, युगदीप, अमृत और विष- उदय शंकर भट्ट
  6. निर्माल्य, एकतारा, कल्पना – वियोगी
  7. अंतर्जगत- लक्ष्मीनारायण मिश्र
  8. अनुभूति, अंतर्ध्वनि – जनार्दन प्रसाद झा द्विज

Read Also-  Makhanlal chaturvedi ka jeevan parichay माखनलाल चतुर्वेदी का जीवन परिचय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *